Pages

JIndgi Ka Ak Kadva such

जिन्दगी ये किस मोड पे ले आयी है , ना मा, बाप, बहन , ना यहा कोई भाई है . हर लडकी का है Boy Friend, हर लडके ने Girl Friend पायी है , चंद दिनो के है ये रिश्ते , फिर वही रुसवायी है .

घर जाना Home Sickness कहलाता है , पर Girl Friend से मिलने को टाईम रोज मिल जाता है .दो दिन से नही पुछा मां की तबीयत का हाल , Girl Friend से पल - पल की खबर पायी है, जिन्दगी ये किस मोड पे ले आयी है .....

कभी खुली हवा मे घुमते थे , अब AC की आदत लगायी है . धुप हमसे सहन नही होती , हर कोई देता यही दुहाई है .

मेहनत के काम हम करते नही , इसीलिये Gym जाने की नौबत आयी है . McDonalds, PizaaHut जाने लगे, दाल- रोटी तो मुश्कील से खायी है . जिन्दगी ये किस मोड पे ले आयी है .....

Work Relation हमने बडाये , पर दोस्तो की संख्या घटायी है . Professional ने की है तरक्की , Social ने मुंह की खायी है. जिन्दगी ये किस मोड पे ले आयी है

No comments:

Post a Comment